Please Enter OTP For Tractor Price कृपया ट्रैक्टर की कीमत के लिए ओटीपी दर्ज करें
Enquiry icon
Enquiry Form

राइस प्लान्टर ट्रैक्टर इम्प्लीमेंट

ट्रैक्टर होम | ट्रैक्टर इम्प्लीमेंट| राइस प्लान्टर ट्रैक्टर इम्प्लीमेंट

भारत में ट्रैक्टर राइस प्लान्टर

Please Enter OTP For Implement Inquiry कार्यान्वयन पूछताछ के लिए कृपया ओटीपी दर्ज करें

राइस प्लान्टर के बारे में जाने राइस प्लान्टर के बारे में जाने

इम्प्लीमेंट टाइप
नाम *
मोबाइल नंबर *
राज्य चुनें *
जिला का चयन करें *
तहसील का चयन करें *

tractor implementsअन्य ट्रैक्टर उपकरण श्रेणी

implements brand लोकप्रिय ट्रैक्टर इम्प्लीमेंट ब्रांड

implements newsट्रैक्टर इम्प्लीमेंट समाचार

Top 10 Brush Cutter Models In India: Decoding Their Uses and Advantages

blog Top 10 Brush Cutter Models In India: Decoding Their Uses and Advantages

The Brush Cutter machine helps in cutting down unwanted shrubs, tall grass, and more as these unwant...

New K3R Brand Launch: Kubota India's Solution for Quality and Affordable Spare Parts

blog New K3R Brand Launch: Kubota India's Solution for Quality and Affordable Spare Parts

Kubota India has launched K3R, a spare part brand. Kubota India never disappoints when it comes...

Top 10 Best Cultivators in India 2024 : Uses, Features and Price | Tractorgyan

blog Top 10 Best Cultivators in India 2024 : Uses, Features and Price | Tractorgyan

Cultivators are one of the most important farm implements for Indian farmers, as it aids in a wide r...

popular tractorलोकप्रिय ट्रैक्टर

tractor newsट्रैक्टर समाचार

VST Power Tillers and SFM Segment Lead the Way with More Than 60% Market Share and LEADNXT Initiative

blogs VST Power Tillers and SFM Segment Lead the Way with More Than 60% Market Share and LEADNXT Initiative

After achieving more than 60% market share in the power tiller and SFM segment, VST Tillers Tractors...

CNH Expands India Technology Center with first-of-its-kind Cutting-Edge Multi-Vehicle Simulator

blogs CNH Expands India Technology Center with first-of-its-kind Cutting-Edge Multi-Vehicle Simulator

Gurugram, April 11, 2024: CNH, a global leader in agricultural and construction solutions, toda...

ट्रैक्टर इंजन में सीसी और हॉर्स पावर: जानिए ये क्या होते हैं और इन दोनों में क्या है अंतर

blogs ट्रैक्टर इंजन में सीसी और हॉर्स पावर: जानिए ये क्या होते हैं और इन दोनों में क्या है अंतर

ट्रैक्टर का इंजन उसका दिल होता हैं और आपको उसके बारें में सही जानकारी होना ज़रूरी है। हमने देखा है कि...

राइस प्लान्टर के बारे में पूछे गये नवीनतम प्रश्न:

यानमार AP6, यानमार VP8DN, यानमार VP6D सबसे लोकप्रिय राइस ट्रांसप्लांटर हैं।

यानमार, महिंद्रा, खेदूत कंपनियां राइस ट्रांसप्लांटर के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं।

एशिया में चावल के लिए फसल स्थापना का सबसे आम और विस्तृत तरीका प्रत्यारोपण है। नर्सरी में उगाई गई धान की पौध को खींचकर पोखर और समतल खेतों में बोने के 15 से 40 दिन बाद (डीएएस) लगाया जाता है। धान की रोपाई या तो हाथ से या मशीन से की जा सकती है।

एक चावल ट्रांसप्लांटर एक विशेष ट्रांसप्लांटर होता है जिसे धान के खेत में चावल के पौधों को ट्रांसप्लांट करने के लिए लगाया जाता है। मुख्य रूप से दो तरह के राइस ट्रांसप्लांटर यानी राइडिंग टाइप और वॉकिंग टाइप।

राइडिंग-टाइप राइस ट्रांसप्लांटर को चावल के पौधों को पोखर और समतल खेत में रोपने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

सबसे अच्छे चावल ट्रांसप्लांटर हैं महिंद्रा एमपी461 राइस ट्रांसप्लांटर, यानमार वीपी 6डी राइस ट्रांसप्लांटर, खेदुत राइस ट्रांसप्लांटर, वॉकिंग टाइप और वीएसटी शक्ति 8 रो पैडी ट्रांसप्लांटर।

राइस ट्रांसप्लांटर एक विशेष ट्रांसप्लांटर है जिसे धान के खेत में चावल की पौध रोपने के लिए लगाया जाता है। चावल ट्रांसप्लांटर मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं, राइडिंग टाइप और वॉकिंग टाइप।

इस ट्रांसप्लांटर की कीमत रुपये 30,000 से 4,50,000*.शुरू होती है।

सब्सिडी की राशि और प्रक्रिया क्षेत्र के अनुसार बदल सकती है, राइस ट्रांसप्लांटर सब्सिडी के बारे में अधिक जानने के लिए आप tractorgyan.com पर जा सकते हैं।

यह तेज़ और कुशल है, कम श्रम का उपयोग करता है और समय पर रोपण सुनिश्चित करता है। तनाव, कार्यभार और स्वास्थ्य जोखिमों को कम करता है। यह पौधों के बीच एकसमान दूरी और घनत्व सुनिश्चित करता है। अंकुर तेजी से ठीक होते हैं, तेजी से पकते हैं और समान रूप से परिपक्व होते हैं।

Select Language

tractorgyan offeringsट्रैक्टरज्ञान द्वारा

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन के बारे में

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन धान के खेतों में चावल के पौधों को फिर से रोपती है। चावल एशिया के अलावा बहुत से क्षेत्रों में उगाया जाता है, राइस ट्रांसप्लांटर्स का उपयोग पूर्व, दक्षिण पूर्व और दक्षिण एशिया में किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि चावल को बिना रोपे बस खेत में बीज बोकर उगाया जा सकता है और एशिया के बाहर के किसान कम उपज की कीमत पर इस आसान से तरीके को पसंद करते हैं। भारतीय किसानों के लिए राइस ट्रांसप्लांटर एक बेहतरीन विकल्प है क्योंकि यह असाधारण प्रदर्शन और लम्बे समय की स्थिरता प्रदान करता है। राइस ट्रांसप्लांटर दो प्रकार के होते हैं राइडिंग टाइप और वॉकिंग टाइप । राइस ट्रांसप्लांटर में लगेज्ड व्हील्स, ट्रांसमिशन, मूवर, इंजन, सीडलिंग ट्रे (यह एक साथ चिपके हुए चावल के बीजों का बंडल होता है), पिक अप टूल यानी पिकअप फोर्क, सीडलिंग ट्रे शिफ्टर आदि होते हैं। इसका सबसे महत्वपूर्ण घटक ट्रांसप्लांटर डिवाइस है, जहां सीडलिंग ट्रे पाई जाती है। यह कार्य सम्बन्धी क्षमता बढ़ाकर आपके कृषि व्यवसाय की लाभप्रदता में सुधार करता है। और राइस ट्रांसप्लांटर मशीन प्राइस भारतीय किसानों के लिए उपयुक्त है।

राइस ट्रांसप्लांटर कैसे काम करता है

राइस ट्रांसप्लांटर का उपयोग करके चावल के पौधों को धान के खेतों में रोपा जाता है। राइस प्लांटर में मुख्य रूप से तीन भाग होते हैं, मोटर और रनिंग गियर और ट्रांसप्लांटर डिवाइस। राइस ट्रांसप्लांटर एक मूवर, ट्रांसमिशन, इंजन, लगेज्ड व्हील्स, सीडलिंग ट्रे (जो एक साथ जुड़े चावल के बीजों के बंडलों से बना होता है), सीडलिंग ट्रे शिफ्टर और एक पिक-अप उपकरण जैसे कांटे से बने होते हैं। ट्रांसप्लांटर में सीडिंग ट्रे शिफ्टर, सीडलिंग ट्रे, प्लुरल पिकअप फोर्क्स होते हैं। सीडिंग ट्रे एक शेड की छत की तरह होती है जहां मैट टाइप राइस नर्सरी लगाई जाती है। जब राइस प्लांटर को खेत में लाया जाता है, तो पौधों को सीडलिंग ट्रे में खिलाया जाता है फिर ट्रे टाइपराइटर की गाड़ी की तरह रोपाई को ट्रांसफर कर देती है क्योंकि पिकअप कांटे ट्रे से रोपाई प्राप्त करते हैं और जमीन में डाल देते हैं। पिकअप करने वाले लोग ट्रे से पौधे लेकर उन्हें धरती में धकेल कर मानव की तरह काम करते हैं।

राइस ट्रांसप्लांटर्स की यंत्र रचना 

राइस ट्रांसप्लांटर्स का मैकेनिज्म काफी सरल है इसमें केवल कुछ स्टेप शामिल हैं।

स्टेप 1: इसमें एक ड्राइविंग है क्योंकि अगर राइडिंग का काम है तो यह मोटर के रूप में काम करती है और अगर सिर्फ चलने का काम हैं तो यह मानव की तरह काम करती है।

स्टेप 2 : एक बार इनिशियलाइज़ेशन हो जाने के बाद कुछ प्रकार के यांत्रिक पुर्जे आपस में जुड़े होते हैं जो मशीन के अंदर कई घूमने वाली गतियाँ पैदा करते हैं।

स्टेप 3: पिक-अप फोर्क के ऊपर आने पर वह अंकुर को ट्रे से निकाल लेता है और नीचे जाकर अंकुर को कीचड़ में डाल देता है।

यह प्रक्रिया बार-बार चलती है और ट्रे स्पेस और ट्रे शिफ्टर के स्लोप टाइप कंस्ट्रक्शन के कारण सीडलिंग ट्रे स्लाइड्स पिकअप फोर्क की तरफ मूव करती हैं।

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन की विशेषताएं

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन में कई विशेषताएँ होती हैं जो चावल की खेती को आसान बनाती हैं। राइस प्लांटर मशीनों में आप कुछ बेहतरीन विशेषताएं पा सकते हैं

1. यह नए प्रकार के सीडलिंग गार्ड बोर्ड से लैस है जो सुनिश्चित कर सकता है कि रोपे गए पौधे सीधे व्यवस्थित हों।

2. इसमें एक सीडलिंग ट्रे होती हैं (शेड की छत के समान) जिसके ऊपर आप चावल की नर्सरी लगा सकते हैं।

3. धान रोपाई मशीन का एडजस्टेबल सीट और स्टीयरिंग गियर बॉक्स मशीन को अधिक आरामदायक और आसान बनाते हैं।

4. धान की रोपाई की मशीन में लगा ट्रे शिफ्टर पौधों को एक टाइपराइटर में कैरिज की तरह स्थानांतरित करता है।

5. कॉन्फ़िगर किया गया इंजन मशीन को प्रदर्शन योग्य और कम शोर वाला बनाता है। 

6. इसमें बहुत से पिकअप फोर्क्स होते हैं जो पौधों को नर्सरी से मिट्टी में ले जाते हैं।

7. राइस ट्रांसप्लांटर का हाइड्रोलिक ओवर राइड सिस्टम फ्लोटिंग बोर्ड को ऊपर की ओर, बाएं ऊपर और दाएं ऊपर ले जा सकता है। 

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन के लाभ 

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन खेती के अनुभव और उपज में सुधार कर सकती हैं। यहाँ राइस प्लांटर के फायदे बताये गए हैं।

1. प्लांटर में सटीक उपकरण लगे होते हैं जो अंकुर को एक दूसरे से सही गहराई और दूरी पर रोपते हैं इसलिए सभी अंकुर को एक स्वस्थ फसल के रूप में बढ़ने के लिए पर्याप्त हवा और पानी मिलता है।

2. किसानों को कटाई के चरण के दौरान उपज को अधिकतम करने के लिए एक दिन में जितनी जरूरत हो उतने पौधे लगाने की जरूरत है। यह कृषि उपकरण चावल की खेती को तेज और कुशल बना सकता है। राइस ट्रांसप्लांटर एक सेकंड या उससे कम समय में रोपाई की एक पंक्ति लगा सकता है जिससे समय पर रोपण की प्रक्रिया पूरी हो जाती हैं।

3. इससे किसान उत्पादकता बढ़ा सकते हैं। धान रोपने वाले यंत्र से लगाए जा सकने वाले पौधों की संख्या में वृद्धि करते हुए रोपाई के लिए आवश्यक श्रम और समय को कम कर सकते हैं। इस काम में कम श्रमशक्ति की आवश्यकता होती है जिससे की किसान अन्य कार्यों पर ध्यान दे सकते हैं।

4. प्लांटर से पौधे मिट्टी में ठीक से ट्रांसप्लांट हो जाते है जिससे पौधे तेजी से और समान रूप से परिपक्व हो जाते हैं।

5. चावल की खेती का पारंपरिक तरीका ज्यादा श्रम और समय लेने वाला है। एक किसान को खेत में मैन्युअल रूप से धान की रोपाई के लिए झुकना पड़ता है। इससे पीठ दर्द और थकान जैसी स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं। चावल ट्रांसप्लांटर का उपयोग करने का मुख्य लाभ श्रम को कम करना भी है।

6. फसलों के बीच की दूरी पर विचार किए बिना अव्यवस्थित ढंग से रोपाई करने की तुलना में उचित दूरी से रोपाई करने से उपज में काफी वृद्धि हो सकती है, यह राइस ट्रांसप्लांटर का उपयोग करके प्राप्त किया जा सकता है। इस कृषि उपकरण का उपयोग करके किसान समान दूरी पर पौधे लगा सकते हैं।

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन का उद्देश्य क्या है

राइस ट्रांसप्लांटर मशीन का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि चावल के पौधों के ठीक से बढ़ने के लिए पर्याप्त पानी हो। राइस प्लांटर्स चावल के बीजों को जमीन में रोपने का काम करता है साथ ही बगीचे से खेत में रोपाई के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है। राइस ट्रांसप्लांटर का उपयोग चावल के बीजों को जमीन में बोने के लिए किया जाता है। इस उपकरण के अंत में एक लम्बा बरमा या कुदाल होता है और इसे आमतौर पर जमीन में दबा दिया जाता है। इस मशीन को हाथ से या इंजन के द्वारा संचालित किया जा सकता है इसका संचालन इस बात पर निर्भर करता है कि किस प्रकार की फसल बोना हैं और यह कितनी भूमि को कवर करेगी। भारत, चीन, जापान सहित कई देशों में धान रोपाई मशीन का उपयोग किया जाता है। एशिया और अफ्रीका के कई हिस्सों में भी इस मशीन का उपयोग किया जाता है। राइस ट्रांसप्लांटर में एक घूमने वाला ड्रम होता है जिसमें कई छोटे-छोटे छेद होते हैं। इस मशीन में पैडल की एक श्रृंखला भी होती है जिसका उपयोग चावल को छेदों के माध्यम से और मिट्टी में धकेलने के लिए किया जाता है। उनका उपयोग सम और स्तरीय सतह बनाने के लिए किया जाता है। साथ ही खरपतवार नियंत्रण या उर्वरक अनुप्रयोग के लिए एक उपकरण के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है।

राइस ट्रांसप्लांटर के प्रकार

भारत में आपको अपने बजट और अपनी आवश्यकताओं के आधार पर दो प्रकार कीधान की रोपाई की मशीन(राइस ट्रांसप्लांटर) मशीनें मिलती हैं जो इस प्रकार हैं।

1. वॉकिंग टाइप राइस ट्रांसप्लांटर

वॉकिंग टाइप राइस ट्रांसप्लांटर को उपयोगकर्ता द्वारा मैन्युअल रूप से धकेला जाता है। इसमें रोपाई तंत्र शामिल है जो पौधों को छत की नर्सरी से लेता है और उन्हें मिट्टी में प्रत्यारोपित करता है। इस उपकरण को चलाते समय कर्मचारी फसलों के बीच भी चल सकता है। आखिर तक पहुँचने पर ऑपरेटर ट्रांसप्लांटर को मोड़ते समय थोड़ा ऊपर खींच सकता है ताकि कोई अंकुर बर्बाद न हो। इस प्रकार के ट्रांसप्लांटर को बनाए रखना अधिक किफायती है यह एक बार में केवल चार पंक्तियों तक का ही प्रत्यारोपण कर सकते हैं।

2. राइडिंग टाइप राइस ट्रांसप्लांटर

राइडिंग टाइप राइस ट्रांसप्लांटर वॉकिंग टाइप वेरिएंट की तरह ही काम करता है लेकिन यह तेज होता है और इसकी क्षमता बढ़ जाती है। इसकी गति के कारण इसे एक वाहन की तरह चलाना पड़ता है। राइडिंग टाइप राइस प्लांटर मशीन एक ट्रैक्टर की तरह होती है लेकिन बहुत छोटी होती है इसका वजन हल्का होता हैं इसे ट्रैक्टर के ऊपर बैठकर चलाते हैं आमतौर पर राइडिंग टाइप राइस प्लांटर्स एक ही बार में छह पंक्तियों की रोपाई कर सकते हैं। इसलिए यह बड़े चावल के पेड़ो के लिए एक सही विकल्प है।

भारत में शीर्ष राइस प्लांटर

आगे हम आपको भारत में शीर्ष राइस ट्रांसप्लांटर्स बता रहे हैं। तो यह हैं कुछ लोकप्रिय राइस ट्रांसप्लांटर्स।

1. यानमार एपी6 

यानमार एपी6 बीज बोने और रोपण के लिए एक बेस्ट धान रोपाई मशीन है। इसमें 4 लीटर ईंधन टैंक क्षमता हैं। 171 सीसी इंजन क्षमता के साथ निर्मित यह एक ईंधन कुशल पैडी ट्रांसप्लांटर है। यानमार राइस ट्रांसप्लांटर एक बार में 6 पंक्तियों को 300 रोपाई चौड़ाई के साथ ट्रांसप्लांट कर सकता है। मजबूत पकड़ के लिए इसमें रबर निकला हुआ टायर है। यह 3000 इंजन रेटेड आरपीएम उत्पन्न करता है। यानमार एपी6 उन किसानों के लिए सबसे अच्छा है जो किफ़ायती मूल्य पर एकदम बढ़िया ट्रांसप्लांटर चाहते हैं।

2. खेदूत राइस ट्रांसप्लांटर राइडिंग टाइप

धान की खेती सबसे कठिन कृषि पद्धति है जिसे ध्यान में रखते हुए खेदूत कंपनी ने इस शक्तिशाली ट्रांसप्लांटर का निर्माण किया। यह शानदार ट्रांसप्लांटर है जो किसानों के प्रयासों को कम करता है। इसमें 2600 इंजन रेटेड आरपीएम के साथ 220 मिमी काम करने की चौड़ाई है। खेदुत ट्रांसप्लांटर में एक एयर कूल्ड डीजल इंजन लगा होता हैं जो एक समय में 8 पंक्तियों को ट्रांसप्लांट करने की क्षमता रखता है। इस राइस ट्रांसप्लांटर मशीन प्राइस भारतीय किसानों के लिए उपयुक्त है।

3. वीएसटी शक्ति 8 रो पैडी ट्रांसप्लांटर

यह भारतीय किसानों के लिए सबसे अच्छा धान ट्रांसप्लांटर है जो उनके प्रयासों को कम करने में मदद करता है और खेतों पर किसानों के प्रदर्शन को बढ़ाता है। वीएसटी शक्ति राइस ट्रांसप्लांटर 2600 आरपीएम रेटेड स्पीड क्षमता के साथ 2.94 किलोवाट रेटेड पावर के साथ आता है। यह 1300 – 2000 वर्ग मीटर/घंटा की क्षमता के साथ निर्मित है। इस ट्रांसप्लांटर में एक अलग क्रैंकशाफ्ट और एक सीडलिंग पुशर के साथ कनेक्टिंग रॉड सिस्टम है। इस ट्रांसप्लांटर की कीमत ग्राहकों के लिए बिल्कुल उपयुक्त है।

4. यानमार वीपी6डी

यानमार वीपी6डी भारत में सबसे लोकप्रिय और उचित धान रोपाई यंत्र है। वीपी6डी में खेतों पर उत्कृष्ट और उत्पादक कार्य के लिए आटोमेटिक लेवलिंग नियंत्रण है। यानमार वीपी6डी ट्रांसप्लांटर शानदार प्रभावी विशेषताओं के साथ खेत में चावल की उच्च उत्पादकता प्रदान करता है। 903 सीसी शक्तिशाली इंजन क्षमता के साथ  इसमें 37 लीटर फ्यूल टैंक कैपेसिटी है। इसमें 3 वाटर कूल्ड सिलेंडर और 4 साइकिल डीजल इंजन होते है। इस राइस ट्रांसप्लांटर मशीन की कीमत भारतीय किसानों के हिसाब से तय की गई है।

5. खेदूत राइस ट्रांसप्लांटर वॉकिंग टाइप

यह अद्भुत विशेषताओं वाला प्लांटर 300 मिमी रो स्पेसिंग के साथ एक समय में 4 रो लगाने की क्षमता रखता है। इसके साथ इसमें एयर कूल्ड पेट्रोल इंजन के साथ 4 लीटर फ्यूल टैंक कैपेसिटी है। यह एक ईंधन कुशल धान की रोपाई की मशीन है। खेदूत कंपनी का यह राइस ट्रांसप्लांटर मशीन प्राइस किफायती है जो किसानों के बजट में आसानी से फिट हो जाता है।

राइस प्लांटर के लिए ट्रैक्टरज्ञान क्यों?

यहाँ आपको राइस प्लांटर की सम्पूर्ण जानकारी दी गई हैं इसके साथ ही यहाँ राइस प्लांटर की मूल्य सूची, विशेषताएं, लाभ, धान रोपाई मशीन के प्रकार दिए गए हैं। कृषि उपकरण के साथ ही ट्रैक्टरज्ञान पर ट्रैक्टर के बारे में भी पूर्ण रूप से जानकारी दी जाती हैं। यह ट्रैक्टर और ट्रैक्टर उपकरण के लिए एक विश्वसनीय वेबसाइट हैं।

राइस ट्रांसप्लांटर किसानों को जल्दी और आसानी से चावल की रोपाई करने में मदद करती है। वैसे तो धान की रोपाई की मशीन का उपयोग किसी भी प्रकार के बीज या पौधे को लगाने के लिए किया जा सकता है, लेकिन इसका उपयोग खास करके चावल लगाने के लिए किया जाता है। अगर आप राइस ट्रांसप्लांटर खरीदना चाहते हैं तो ट्रैक्टरज्ञान पर जाएँ वहां से आप सही मूल्य में इसे खरीद सकते हैं।

POPULAR SECOND HAND TRACTORSलोकप्रिय पुराने ट्रैक्टर

LOCATE TRACTOR DEALERS/SHOWROOMट्रैक्टर डीलरों / शोरूम का पता लगाएं