Enter your city for weather info

Invalid City Name

rain icon
Temperature 22°C
Status Clear
City New York
4-Day Forecast
Humidity icon

50%

Humidity

wind icon

15 km/h

Wind Speed

Please Enter OTP For Tractor Price कृपया ट्रैक्टर की कीमत के लिए ओटीपी दर्ज करें
Enquiry icon
Enquiry Form

ड्रिप सिंचाई और सहजन के पौधों से कैसे एनजीओ बदल रहें है महाराष्ट्र के किसानों की ज़िंदगी?

ड्रिप सिंचाई और सहजन के पौधों से कैसे एनजीओ बदल रहें है महाराष्ट्र के किसानों की ज़िंदगी?

    ड्रिप सिंचाई और सहजन के पौधों से कैसे एनजीओ बदल रहें है महाराष्ट्र के किसानों की ज़िंदगी?

23 Nov, 2020

महाराष्ट्र के कई इलाकों में किसान सूखे से परेशान हैं, वो पानी की कमी के कारण पारंपरिक फसलें नहीं उगा पा रहे हैं। सूखाग्रस्त इलाकों में किसानों की इस तरह की स्तिथि बन गई है कि वो खुद की गुज़र बशर भी नहीं कर पा रहें है। ऐसी परिस्थिति में मानवलोक अंबजोगाई और सेव इंडियन फार्मर्स (SIF) जैसे एनजीओ किसानों की मदद के लिए आगे आए हैं, यह एनजीओ जरूरतमंद किसानों को ड्रिप इरिगेशन सिस्टम और सहजन के पौधे मुफ्त बांट रहे हैं। किसान इनकी मदद से बंजर सी जमीनों पर भी बहुत कम पानी का उपयोग कर अच्छा मुनाफा कमाने लगें हैं।

                                               

क्या होता है सहजन?

आपको बता दें सहजन एक औषधीय गुणों वाला पेड़ होता है, जिसे कई इलाकों में सुजना, सैंजन और मुनगा आदि नामों से जाना जाता है, अंग्रेजी में इसे ड्रम्स्टिक कहते हैं।

इस पेड़ से फलियां मिलती हैं उन्हें सब्जी की तरह उपयोग में लिया जाता है, लेकिन अब यह औषधीय गुणों के कारण ज्यादा प्रचलित हैं, इसमें 300 से अधिक रोगों के रोकथाम की क्षमता है। इस पेड़ की खासियत है कि यह प्रतिकूल परिस्थितियों में भी आसानी से पनप सकता है, लेकिन बड़ी आसानी से उगने वाले इस पेड़ का हर हिस्सा उपयोगी है इसलिए इसके अच्छे दाम भी मिलते हैं।

अगर आपको ड्रिप इरिगेशन के बारे में जानना है तो आप यहा क्लिक करें- ड्रिप इरिगेशन के फायदे और प्रकार

और ड्रिप इरिगेशन पर सरकारी योजना जाने:-

 

कैसे बदली किसानों की ज़िंदगी?

किसानों की मदद को आगे आ रहे सेव इंडियन फार्मर्स (SIF) और मनावलोक अंबजगोई जैस क्षेत्रीय समाजसेवी संगठन जो काम कर रहे है उसका प्रभाव दिखने लगा है। सकारात्मक प्रभावों की एक ऐसी ही कहानी है महाराष्ट्र में अंबजगोई तहसील के येल्डा गांव के किसान श्रीपति चमनार की।

आज एनजीओ की मदद के कारण श्रीपति जी को सूखाग्रस्त क्षेत्र में भी अधिक उत्पाद मिल रहा है, जो सहजन और ड्रिप सिंचाई व्यवस्था उन्हें मुहैय्या कराई गई है उससे वो 1 लाख रुपए कमाने में सक्षम हुए हैं।

पहले वह कपास की फसल उगाते थे, लेकिन बदलते जलवायु और अपर्याप्त पानी के कारण उससे पर्याप्त आय नहीं मिल सकती। बेड़ा ज़िले के इस 50 वर्षीय किसान के लिए कोई और रोजगार मिलना संभव ना था। लेकिन ऐसी परिस्थिति में सेव इंडियन फार्मर्स (SIF) और मनावलोक अंबजगोई के बारे में उन्हें जानकारी मिली और उनकी ज़िंदगी बदल गई।

 

अब इस तरह खेती करते हैं श्रीपति:-

मदद मिलने के बाद श्रीपति ने ड्रम्स्ट्रिक की खेती शुरू कर दी, श्रीपति ने दो एकड़ में 1600 ड्रमस्टिक पौधे लगाए। ये पौधे क्रमशः 10 x 6 फीट और 1 × 1 फीट की गहराई पर बोए गए,  उन्होंने जीव-आम्रत, गाय के गोबर का खाद / उर्वरक के रूप में उपयोग किया, और शुद्ध जैविक खेती की जिसके करें वह अतिरिक्त खर्च को कम करने में सक्षम रहे। उन्हें इस सहजन के पौधे से 6 महीने के बाद उत्पादन मिलना शुरू हो गया। बता दें आमतौर पर, ड्रमस्टिक फसल को किसी भी बीमारी, कीट का खतरा नहीं होता है। ड्रमस्टिक के पेड़ को कम जगह की आवश्यकता होती है, इस प्रकार न्यूनतम निवेश में सर्वाधिक मुनाफे वाले इस विकल्प से श्रीपति की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव आए।

उनके ड्रमस्टिक बाज़ार में 60 से 70 रुपए प्रति किलग्राम के भाव से बिक रहे हैं। श्रीपति अब इस सीजन में 4000 किलोग्राम ड्रमस्टिक फसल उत्पादन से कम से कम दो लाख की आय की उम्मीद कर रहे हैं।

श्रीपति कहते हैं - “ मेरे गांव में ज्यादातर कपास की फसल उगाई जा रही थी, इसलिए मैं वैकल्पिक विकल्प खोज रहा था।  जब मैंने मानवलोक के बारे में जाना, मुझे पता चला वो आय कुशल कर किसानों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए एक ड्रमस्टिक रोपण की पहल के साथ आए हैं, मैंने अपने खेत में इस गतिविधि को करने का फैसला किया। अब मैं खुश हूँ क्योंकि मुझे पारंपरिक फसलों के बजाय ड्रमस्टिक के माध्यम से अधिक लाभ और आय प्राप्त हो रही है। ”

 

तो यह थी सूखाग्रस्त इलाकों में कृषि से जुड़ी समस्या और उनके उपाय से जुड़ी विशेष जानकारी। श्रीपति की तरह आप भी महाराष्ट्र या उत्तराखंड के किसान हैं और अपने लिए या किसी और किसान के लिए सहायता चाहते हैं तो 02248934037, इस न. पर संपर्क करें। अगर आप सक्षम हैं तो आप https://www.saveindianfarmers.org/

पर किसानों की सहायता के लिए दान भी कर सकते हैं और ट्रैक्टर व किसानी की हर तरह की जानकारी के लिए जुड़े रहें TractorGyan के साथ।

 

Read More

 क्या न्यू हॉलैंड 3037 TX है 39 HP का सबसे बेस्ट ट्रैक्टर?       

क्या न्यू हॉलैंड 3037 TX है 39 HP का सबसे बेस्ट ट्रैक्टर?

Read More  

 Top 5 best puddling tractors in India 2021       

Top 5 best puddling tractors in India 2021             

Read More  

 कृषि के क्षेत्र में ये हैं भारत के टॉप 11 राज्य!       

कृषि के क्षेत्र में ये हैं भारत के टॉप 11 राज्य!                    

Read More

Top searching blogs about Tractors and Agriculture

Top 10 Tractor brands in india To 10 Agro Based Indutries in India
Rabi Crops and Zaid Crops seasons in India Commercial Farming
DBT agriculture Traditional and Modern Farming
Top 9 mileage tractor in India Top 5 tractor tyres brands
Top 11 agriculture states in India top 13 powerful tractors in india
Tractor Subsidy in India Top 10 tractors under 5 Lakhs
Top 12 agriculture tools in India 40 Hp-50 Hp Tractors in India

review Write Comment About Blog.

Enter your review about the blog through the form below.



Customer Reviews

Record Not Found

Popular Posts

https://images.tractorgyan.com/uploads/113948/669e38e519a28-cnh-india-reaches-7-lakh-tractor-production-in-noida.jpg

CNH India reaches 7 Lakh Tractor production mark in Greater Noida Plant

Greater Noida, July 22, 2024: CNH – a global leader in agriculture with its New Holland and Ca...

https://images.tractorgyan.com/uploads/113947/669e21d8d3a2e-union-budget-2024-live-update-for-farmers.jpg

Live Update: Nirmala Sitharaman presents Modi Government 3.0 Union Budget 2024-25

The Union Budget for fiscal year 2024-25 is presented today in Lok Sabha by Finance Minister, Nirmal...

https://images.tractorgyan.com/uploads/113949/669e3a2fdd346-union-budget-2024-live-update.jpg

Live Update: मोदी सरकार 3.0 का वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण पेश करने जा रही है, केंद्रीय बजट 2024–25

वित्त वर्ष 2024-25 के लिए केंद्रीय बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आज लोकसभा में पेश किया गय...

Select Language

tractorgyan offeringsTractorGyan Offerings