Enter your city for weather info

Invalid City Name

rain icon
Temperature 22°C
Status Clear
City New York
4-Day Forecast
Humidity icon

50%

Humidity

wind icon

15 km/h

Wind Speed

Please Enter OTP For Tractor Price कृपया ट्रैक्टर की कीमत के लिए ओटीपी दर्ज करें
Enquiry icon
Enquiry Form

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022: योजना का विवरण, बीमा किस्त और लाभ

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022: योजना का विवरण, बीमा किस्त और लाभ

    प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022: योजना का विवरण, बीमा किस्त और लाभ

02 Sep, 2022

पीएम फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) 2022 

भारत किसानों का देश है जहां ग्रामीण आबादी का अधिकतम अनुपात कृषि पर आश्रित है। माननीय प्रधानमंत्री ने 13 जनवरी 2016 को एक नई योजना प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) का अनावरण किया जिसके तहत फसलों को सूखा, आंधी, तूफान, बे मौसम बारिश, बाढ़ आदि जैसे जोखिम से सुरक्षा मिलती है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं से नुकसान की स्थिति में किसानों को किफायती दर पर इंश्योरेंस कवर देना है। पीएम फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) को केंद्र सरकार ने खरीफ सीजन 2016 से शुरू किया है. इस योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं से फसलों को होने वाले नुकसान को कवर किया जाता है. कटाई के बाद खेती में रखी फसल के बारिश व आग से खराब होने को भी इस योजना के तहत कवर किया गया है. अब जंगली जानवरों की तरफ से फसलों को हुए नुकसान को भी बीमा कवर में शामिल कर लिया गया है. यह योजना देया के ज्यादातर राज्यों ने अपनाया है। 

पीएम फसल बीमा योजना का विवरण

प्रधानमंत्री की कैबिनेट ने 13 जनवरी 2016 को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) को मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, किसानों की फसल को प्राकृतिक आपदाओं के कारण हुई ,हानि को किसानों के प्रीमियम का भुगतान देकर एक सीमा तक कम करायेगी और इस  योजना के लिये 8,800 करोड़ रुपयों को खर्च किया जायेगा साथ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत, किसानों को बीमा कम्पनियों द्वारा निश्चित, खरीफ की फसल के लिये 2% प्रीमियम और रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान करेगा। पीएम बीमा फसल योजना न केवल खरीफ और रबी की फसलों को बल्कि वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए भी सुरक्षा प्रदान करती है, बल्कि वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिये किसानों को 5% प्रीमियम (किस्त) का भुगतान भी करती है। 

पीएम फसल बीमा योजना में बीमा किस्त के मुख्य बिंदु

  • प्रधानमंत्री फसल योजना के अन्तर्गत तकनीकी का अनिवार्य प्रयोग किया जायेगा, जिससे किसान सिर्फ मोबाईल के माध्यम से अपनी फसल के नुकसान के बारें में तुरंत आंकलन कर सकता है।

  • प्रधानमंत्री फसल योजना के अन्तर्गत आने वाले 3 सालों के अन्तर्गत सरकार द्वारा 8,800 करोड़ खर्च करने के साथ ही 50% किसानों को कवर करने का लक्ष्य रखा गया है।इस योजना के तहत किसानों द्वारा दी जाने वाली निर्धारित बीमा किस्त/प्रीमियम- खरीफ की सभी फसलों के लिये 2% और सभी रबी फसलों के लिये 1.5% है।

  • वार्षिक वाणिज्यिक तथा बागवानी फसलों के मामले में बीमा किस्त 5% है

  • किसानों द्वारा भुगतान की जाने वाली प्रीमियम दरें बहुत कम हैं और प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल के नुकसान के खिलाफ किसानों को पूरी बीमा राशि प्रदान करने के लिये शेष प्रीमियम का भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा।

  • शेष प्रीमियम बीमा कम्पनियों को सरकार द्वारा दिया जायेगा , ये राज्य तथा केन्द्रीय सरकार में बराबर-बराबर बाँटा जायेगा।

पीएम फसल बीमा योजना में यूपी सरकार को 3000 करोड़ की सौगात मिली

अन्नदाता किसानों की आय दोगुनी करने के साथ-साथ फसलों को हुए नुकसान की भरपाई करने की दिशा में उत्तर प्रदेश सरकार पीछे नहीं है।  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) के तहत सरकार किसानों को प्राकृतिक आपदा में खराब हुई फसलों का भुगतान करके उनका किसी भी प्रकार से नुकसान नहीं होने दे रही है, प्रदेश में अब तक योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा 27.59 लाख से अधिक किसानों को  3074.60 करोड़ रुपये क्षतिपूर्ति का भुगतान किया गया। सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का मकसद किसानों की फसलों को खराब मौसम और प्राकृतिक आपदाओं से रक्षा करना और प्रीमियम के बोझ को कम करना है। इसमें किसानों को खरीफ फसलों के लिए 2% और रबी फसलों के लिए 1.5% का प्रीमियम अदा करना होगा और वहीं वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए 5% प्रीमियम का भुगतान करना है। इस योजना के लागू होने से किसानों को बड़ी राहत मिली है. खासकर उन किसानों को जो किसान कर्ज या उधार पैसे लेकर खेती में लगाते थे, योजना के कारण उनकी आय और अधिक मजबूत हो रही है। उत्तर प्रदेश सरकार ने भारत सरकार की इस योजना को उत्तर प्रदेश के समस्त जिलों में ग्राम पंचायत स्तर पर लागू किया है। सरकार के अब तक कुल 281.25 लाख बीमित किसानों द्वारा फसलों का बीमा कराया गया, जिसमें 27.59 लाख कृषकों को 3074.60 करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति का भुगतान किया गया हऔर इसमें खरीफ सीजन 2021-2022 में 7.02 लाख किसानों को 654.85 करोड़ रुपये की फसल क्षतिपूर्ति का भुगतान भी शामिल हैं। रबी 2021-2022 में 19.90 लाख कृषकों द्वारा 14.21 लाख हे० क्षेत्रफल में बीमित किया गया है, जिसकी क्षतिपूर्ति की प्रक्रिया चल रही है। 

पीएम फसल बीमा योजना के लाभ

  • केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इस योजना के तहत गैर-सिंचित क्षेत्रों/फसलों के लिये बीमा किस्त की दरों पर केंद्र सरकार की हिस्सेदारी को 30% और सिंचित क्षेत्रों/फसलों के लिये 25% तक सीमित करने का निर्णय लिया है। पहले, केंद्रीय सब्सिडी की कोई ऊपरी सीमा निर्धारित नहीं थी।

  • इस योजना के अंतर्गत खरीफ फसलों में धान, कपास, मक्का, बाजरा तथा मूंग रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। इस बात की जानकारी कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के द्वारा प्रदान की गई है। इस योजना के अंतर्गत धन के लिए प्रीमियम की राशि 741 रुपए, कपास का प्रीमियम 1798 रुपए, मक्का के प्रीमियम की राशि 370.51 रुपए, बाजरे के प्रीमियम की राशि 348.70 रुपए तथा मूंग के प्रीमियम की राशि ₹326 रुपए प्रति एकड़ निर्धारित किया गया है।

  • रबी की फसलों के लिए गेहूं का प्रीमियम ₹425, सरसों का प्रीमियम ₹286.6, चने का प्रीमियम ₹212.50 तथा सूरजमुखी का प्रीमियम ₹277.88 प्रति एकड़ निर्धारित किया गया है। 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अनुसार अब किसानों को यह योजना पोस्ट ऑफिस से भी प्राप्त हो सकती है, अर्थात इस स्कीम के फायदे किसानो अब पोस्ट ऑफिस से भी प्राप्त कर सकेंगे।  सरकार का इस कदम के पीछे यह उद्देश्य था कि ग्रामीण क्षेत्रों में डाक विभाग की पहुंच अच्छी होती है और किसानों को फिर काफी आसानी होगी। 

पात्रता

पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत योजना के तहत देश के सभी किसान पात्र हो सकते है। इस योजना के तहत किसान अपनी ज़मीन पर की गयी खेती का बीमा करवा सकते है साथ ही किसान किसी उधार की पर ली गयी ज़मीन पर की गयी खेती का भी बीमा करवा सकते है। 

देश क उन किसानो का इस योजना के तहत पात्र माना जायेगा जो पहले किसी बीमा योजना का लाभ नहीं ले रहे हो। 

  • किसान का आई डी कार्ड

  • आधार कार्ड

  • राशन कार्ड

  • बैंक खाता

  • किसान का एड्रेस प्रूफ (जैसे ड्राइविंग लाइसेंस ,पासपोट, वोटर   ID कार्ड )

  • खेत किराये पर लेकर खेती की गयी है तो खेत के मालिक के साथ इकरार की फोटो कॉपी

  • खेत का खाता नंबर /खसरा नंबर के पेपर

  • आवेदक का फोटो

  • किसान द्वारा फसल की वुआई शुरू किए हुए दिन की तारीख 

ट्रैक्टर ज्ञान पर आप सभी प्रकार के ट्रैक्टर्स की जनकारी सीधे प्राप्त कर सकते है। महिंद्रा ट्रैक्टर, स्वराज ट्रैक्टर, सोनालिका ट्रैक्टर आदि कईं और ट्रैक्टर्स के ब्रांड्स के बारे में उनकी रेट्स, फीचर्स, आधुनिक तकनीकी के बारे में भी जानकारी हमारी वेबसाइट पर मिलती है। साथ ही साथ कृषि से जुड़ी और नई जानकारी मिलती है। साथ हर राज्य द्वारा या केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं की विस्तृत जानकारी भी हमारी वेबसाइट पर आसानी से मिल जाती है।

ट्रैक्टर्स के बारे में, उनके फीचर्स, क्षमता आदि का स्पष्ट विवरण और सही रेट की जानकारी पहुंचाना ट्रैक्टर ज्ञान का मुख्य लक्ष्य होता है।

ट्रैक्टर ज्ञान वेबसाइट पर पुराने, नए ट्रैक्टर्स के बिक्री की सीधी जानकारी मिलती है। साथ हमसे सीधे सम्पर्क कर किसान भाई आसानी से ट्रैक्टर के क्रय-विक्रय की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

https://images.tractorgyan.com/uploads/1605165886-Best-Combine-Harvester-in-India.png Top 10 Best Combine Harvester in India - Overview, Advantages and Types of Harvester | TractorGyan
The modern combine harvester, is a versatile machine designed to efficiently harvest a variety of grain crops. The name derives from its combining thr...
https://images.tractorgyan.com/uploads/26901/631319cc379d0_evolution-of-agriculture.jpg Evolution of Agriculture in past 20-30 years in India
Since its independence, India has undergrown several changes in the overall growth of growth and agriculture. In the 50 years leading up to Indepen...
https://images.tractorgyan.com/uploads/26895/6312ed9f99701_sonalika.jpg Sonalika records highest ever 60,198 tractor sales in April'22 - August'22, with 13.9% market share
Our journey so far has taken a quantum leap as we have proudly clocked highest ever YTD overall sales (Apr-Aug’22) of 60,198 tractors with 13.9% marke...

Top searching blogs about Tractors and Agriculture

Top 10 Tractor brands in india To 10 Agro Based Indutries in India
Rabi Crops and Zaid Crops seasons in India Commercial Farming
DBT agriculture Traditional and Modern Farming
Top 9 mileage tractor in India Top 5 tractor tyres brands
Top 11 agriculture states in India top 13 powerful tractors in india
Tractor Subsidy in India Top 10 tractors under 5 Lakhs
Top 12 agriculture tools in India 40 Hp-50 Hp Tractors in India

review Write Comment About Blog.

Enter your review about the blog through the form below.



Customer Reviews

Good

user reviewBy Ashok  20-04-2023

Popular Posts

https://images.tractorgyan.com/uploads/113933/669a4b8101afa-what-farmers-can-expect-from-union-budget-2024.jpg

क्या-क्या गुड न्यूज़ लेकर आ सकता है यूनियन बजट 2024 किसानों के लिए?

संसद के मानसून सत्र के दौरान 23 जुलाई 2024 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार 3.0 के लिए यून...

https://images.tractorgyan.com/uploads/113918/669a031adb710-solis-tractors-the-most-powerful-multi-speed-tractor-in-india.jpg

What Makes Solis Tractors the Most Powerful Multi-Speed Tractor in India?

Solis Tractors needs no introduction as this tractor manufacturing brand has managed to become &lsqu...

https://images.tractorgyan.com/uploads/113823/6692222f0f3c2-vst-zetor-introduced-tractors-in gujarat.jpg

VST Zetor Introduced Tractors in Gujarat

12 July 2024: VST Zetor range of tractors, jointly developed by VST Tillers Tractors Ltd and HT...

Select Language

tractorgyan offeringsTractorGyan Offerings