Tractor Gyan Blog

Home| All Blogs| जानें भारत की टॉप 7 कृषि आधारित इंडस्ट्रीज कौनसी हैं!
SHARE THIS

जानें भारत की टॉप 7 कृषि आधारित इंडस्ट्रीज कौनसी हैं!

    जानें भारत की टॉप 7 कृषि आधारित इंडस्ट्रीज कौनसी हैं!

एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज कृषि उत्पादों को हमारी जरुरत के हिसाब से तैयार कर फिनिश्ड प्रोडक्ट बनाने का काम करतीं हैं।  जानें भारत की टॉप 7 एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज कौनसी है और यह भी कि किस तरह आप इन उद्योगों में अपना व्यवसाय शुरु कर सकते हैं।

एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज (कृषि आधारित उद्योग ) वे उद्योग हैं जिनकी कच्चे माल की जरुरत कृषि उत्पादन से पूरी होती है। ये उद्योग ही कृषि उत्पादन को उपभोक्ता वस्तुओं में बदलने का काम करते हैं जिससे वे पहले की तुलना में अधिक मूल्यवान हो जाते हैं।  ये उद्योग औद्योगिक उत्पादन के साथ-साथ देश की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा योगदान देते है, ये रोजगार और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार करने के अवसर प्रदान करते हैं। भारत की 70 प्रतिशत आबादी कृषि और कृषि आधारित उद्योगों पर निर्भर करती है। तो आइए जानते है इनके बारे में।

 

एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज के प्रकार:-

एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज को उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले कच्चे माल और उनके द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा और उत्पादन के आधार पर विभाजित किया जाता है।  बाजार में मुख्यतः चार प्रकार के एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज (कृषि आधारित उद्योग) मौजूद हैं, जो इस प्रकार हैं-

 

●     एग्रो प्रोसेसिंग यूनिट्स (कृषि प्रसंस्करण इकाइयां)

इस प्रकार की इकाइयों में कोई नया उत्पाद नहीं बनाया जाता है।  नए उत्पादों का उत्पादन करने के बजाय वे कच्चे माल को इस तरह से संसाधित करते हैं कि वे परिरक्षकों को जोड़कर अपने जीवनकाल को बढ़ा सकें और उन्हें अपने परिवहन को आसान और सस्ता बनाने के लिए पैकेज कर सकें।

 

●     एग्रो प्रोड्यूस मनाफैक्चरिंग यूनिट्स (कृषि-उत्पादन निर्माण इकाइयां)

 ऐसी इकाइयों में नए पूरी तरह से अलग अंतिम उत्पाद का उत्पादन होता है।  यहां आमतौर पर, कच्चे माल को ऐसे सामानों में बदल दिया जाता है जो उपभोक्ताओं के लिए अधिक उपयुक्त होते हैं।

 

●     एग्रो इनपुट मैनेफैक्चरिंग यूनिट्स (कृषि इनपुट विनिर्माण इकाइयां)

ये इकाइयाँ मुख्य रूप से कृषि क्षेत्र के विकास के लिए जिम्मेदार हैं क्योंकि वे ऐसी वस्तुओं का उत्पादन करती हैं जो कृषि क्षेत्र की उत्पादकता बढ़ाने के लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार हैं, जिसमें इसके मशीनीकरण भी शामिल है।

 

●      कृषि सेवा केंद्र

ये इकाइयाँ मूल रूप से इकाइयाँ हैं जो लोगों को कृषि संबंधी सेवाएँ प्रदान करती हैं जैसे कृषि उपकरण की मरम्मत, शैक्षिक कार्यशालाएँ आदि।

 

भारत में शीर्ष 7 कृषि-आधारित उद्योग 2021 (Top 7 agro based industries in india | 2021):-

यहां भारत के सात प्रमुख कृषि आधारित उद्योगों की सूची 2021-

 

 1. कपड़ा उद्योग (Textile Industry)

 कच्चा माल: कपास, जूट, रेशम, ऊन और मानव निर्मित फाइबर।

 अंतिम उत्पाद: घरेलू, परिधान, फर्नीचर आदि।

 

कपड़ा उद्योग भारत में सबसे बड़ा कृषि आधारित उद्योग है।  यह उद्योग कपड़ों के निर्माण से संबंधित है। यह एक आत्मनिर्भर उद्योग है जो अपने ग्राहक को कच्चे माल से लेकर पूरी तरह फिनिश्ड प्रोडक्ट तक हर चीज का उत्पादन करता है। देश की अर्थव्यवस्था में इसका बहुत बड़ा योगदान है। सूती, ऊनी और सिल्क इस उद्योग की प्रमुख शाखाएं है।

 

 2. डेयरी उद्योग (Dairy Industry)

कच्चा माल: दूध

अंतिम उत्पाद: मक्खन, पनीर, क्रीम, गाढ़ा दूध, सूखा दूध, पैकेज्ड दूध, आइसक्रीम आदि।

 

डेयरी उद्योग भारत में सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है क्योंकि यह अर्थव्यवस्था के 4% तक का योगदान देता है।  यह भारत में किसानों के लिए आय का सबसे पुराना और अच्छा स्रोत है जो इसे पूरे भारत में ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे अधिक प्रचलित गतिविधियों में से एक बनाता है। पिछले कई वर्षों से पूरे भारत में इसे बढ़ाने के निरंतर प्रयास किए गए, आज भारत कुल विश्व दूध उत्पादन में 20% हिस्सेदारी रखता है।

 

इस ब्लॉग को हिंदी में पढ़ना चाहते हैं तो नीचे क्लिक करें

 Mahindra sales down April 2020       

Top 10 agro-based Industries in India 2021                   

Read More

 

 3 . चीनी उद्योग (Sugar Industry)

 कच्चा माल: गन्ना

 अंतिम उत्पाद: ब्राउन शुगर, सफेद चीनी आदि।

 

भारत विश्व में चीनी का सबसे बड़ा उपभोक्ता है और दुनिया का सबसे बड़ा गन्ना और दूसरा सबसे बड़ा चीनी उत्पादक देश है, जो चीनी उद्योग को भारत में एक महत्वपूर्ण कृषि-आधारित उद्योगों में से एक बनाता है। 

गन्ना हमारे देश में चीनी उत्पादन का मूल स्रोत है, भले ही यह उद्योग भारत में बहुत से लोगों का समर्थन करता है, लेकिन यह समर्थन पूरे वर्ष तक नहीं टिकता है क्योंकि यह उद्योग केवल गन्ने की कटाई के महीनों के दौरान ही सक्रिय होता है। भारत के गन्ना किसान सीधे तौर पर चीनी मीलों पर ही निर्भर करते हैं, उन्हें ही अपना ज्यादातर उत्पाद बेचते है।

 

4 . वनस्पति तेल उद्योग (Vegetable oil industry)

कच्चा माल: जैतून, मूंगफली, कुसुम आदि या उनका कच्चा तेल

अंतिम उत्पाद: खाद्य वनस्पति तेल

 

वनस्पति तेल भारतीय आहार में वसा का प्राथमिक स्रोत है।  वनस्पति एक हाइड्रोजनीकृत वेजिटेबल ऑइल है जिसका व्यापक रूप से भारत में उपयोग किया जाता है।  विभिन्न क्षेत्र अपने द्वारा उपयोग की जाने वाली तकनीक के आधार पर विभिन्न सामग्रियों का उपयोग करते हैं।  इस उद्योग के लिए सबसे आम कच्चे माल में नारियल, सरसों और मूंगफली शामिल हैं।  सभी वनस्पति तेल उत्पादक राज्यों में मध्य प्रदेश तिलहन उत्पादन की उच्च मात्रा के कारण पहले स्थान पर है।

 

 5. चाय उद्योग (Tea Industry)

कच्चा माल: हरी चाय की पत्तियां

अंतिम उत्पाद: तत्काल चाय, सौंदर्य प्रसाधन आदि।

 

चाय भारतीयों द्वारा खाया जाने वाला एक पसंदीदा पेय है और इसलिए इसका उत्पादन भी होता है।  चाय की खेती ज्यादातर असम, पश्चिम बंगाल और केरल में की जाती है।  यह उद्योग पूरे वर्ष चलता है और प्रति वर्ष एक अरब किलो चाय का उत्पादन करते हुए लगभग 1 मिलियन लोगों को रोजगार देता है, जिससे यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चाय उत्पादक देश बन जाता है।

 

 6. चमड़ा उद्योग (Leather Industry)

 कच्चा माल: मवेशी की खाल

 अंतिम उत्पाद: चमड़े का सामान, बेल्ट आदि।

 

इस उद्योग का मूल कच्चा माल खाल और खाल है, जो मवेशियों और बड़े जानवरों और भेड़ और बकरी जैसे छोटे जानवरों से आता है। भारत में कानपुर चमड़े के उद्योगों के लिए जाना जाता है और क्योंकि यहां कुछ बेहतरीन चमड़ा उद्योग हैं जो अपने उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों के लिए जाने जाते हैं। यह उद्योग बड़ी मात्रा में युवा कार्यबल के लिए भी जाना जाता है, जिससे हमारे देश के युवाओं को रोजगार के अधिक अवसर मिलते हैं।

 

 7. जूट उद्योग (Jute Industry)

कच्चा माल: जूट

अंतिम उत्पाद: गनी बैग, हेसियन, कालीन, रस्सी, स्ट्रिंग्स, पैकिंग सामग्री इत्यादि।

 

भारत जूट का सबसे बडा उत्पादक है, जूट उद्योग पश्चिम बंगाल में सबसे लोकप्रिय उद्योगों में से एक है क्योंकि 70 में से 60 जूट उद्योग पश्चिम बंगाल में हुगली नदी के किनारे स्थित हैं। जूट उद्योग एक महत्वपूर्ण कृषि आधारित उद्योग है क्योंकि यह भारत में लगभग 4 मिलियन लोगों के जीवन का समर्थन करता है। जूट उद्योग वर्तमान में बहुत अच्छी दर से बढ़ रहा है और साथ ही यह अब हमारी अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है।

 

ये सभी कृषि-उद्योग हमारे देश की अर्थव्यवस्था के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं, इनके अलावा कॉफी, मसाले, बांस आदि अन्य प्रमुख एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज है। चूंकि वे हमारी अर्थव्यवस्था का समर्थन करते हुए हमारी आबादी के एक बहुत बड़े हिस्से को रोजगार प्रदान करते हैं। इन उद्योगों की मांग भी किसानों का लाभ प्रतिशत तय करती है।

 

आप ऐसे शुरु करें कृषि आधारित व्यवसाय:-

आपको यह जानना चहिए कि कृषि आधारित उद्योगों में कितनी संभावनाएं विकसित हो रही है। लेकिन इनका फायदा उठाने के लिए और अपना बिसनेस शुरू करने के लिए आपको कुछ बातें ध्यान में रखनी होंगी और फिर उसी के हिसाब से एक प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ना होगा।

 

रिसर्च:- आप जिस बाज़ार में प्रवेश करना चाहते है, सबसे पहले आपको सबसे पहले अनुसंधान या रिसर्च करनी होगी। आपको उस बाज़ार से जुड़े सभी सवालों के जवाब तलाशने होंगे। पूरी जानकारी के बाद ही आगे बढ़े।

 

प्लांनिंग:- जब आपको जानकारी हो जाएगी, आप अपने बिसनेस का प्लान तैयार कर सकते है। आपको यह भी सोचना होगा कि आप बाज़ार में कैसे उभर कर आएंगे, क्या नया करेंगे। आप बिसनेस से जुड़े नियम कायदे भी जान लें और उसी के अधार पर अपने बिसनेस को रजिस्टर करा लाइसेंस ले।

 

फंड:- आपको बिसनेस शुरु करने के लिए आर्थिक रुप से तैयार होना होगा, फंड तैयार करने होंगे। साथ ही आप जिस बिसनेस में उतरना चाहते है उसमें किसानो व अन्य वेंडर्स से पहचान बना लें।

 

तो यह थी खास जानकारी एग्रो इंडस्ट्रीज की, उम्मीद करते है यह आपके लिए मददगार साबित होगी।

इसी तरह किसानी व ट्रैक्टर सम्बंधी जानकारियों के लिए जुड़े रहें TractorGyan के साथ

 

Read More

 Mahindra sales down April 2020       

M&M is setting up a new plant for farm equipment in Pithampur: Hemant Sikka                                         

  Read More  

 Mahiahindra sales down April 2020       

M&M Decides To Advance The Schedule Maintenance Shutdown Of All Its Plants In May For Four Days  

Read More  

 Mahindra sales down April 2020       

Escorts Ltd. will temporally and selectively shut down manufacturing operations this weekend                   

Read More

Write Comment About BLog.

Enter your review about the blog through the form below.



Customer Reviews

Record Not Found

img

blog

https://images.tractorgyan.com/uploads/3504/617142f1335d2_WhatsApp-Image-2021-10-21-at-4.04.46-PM.jpeg

VST MT 932 adjudged the Most Innovative Tractor of 2021

Bengaluru, 21st October 2021:    VST Tillers Tractors Ltd. (VST), India’s lead...

https://images.tractorgyan.com/uploads/3499/61711dd2e98bf_WhatsApp-Image-2021-10-21-at-1.20.31-PM.jpeg

जानिये किन फ़ीचर से मिलकर बनता है ढुलाई स्पेशल ट्रैक्टर?

ट्रैक्टर का इस्तेमाल कृषि के अलावा सबसे ज्यादा ढुलाई के लिए ही होता है। ढुलाई के लिए इस्तेमाल किए जा...

https://images.tractorgyan.com/uploads/3487/616d5643e3b3f_blog.jpg

Top 9 Farmtrac tractors in India | Price & Features in 2021

Farmtrac is the advanced and modified launch of the Escorts group. The tractor brand is the best and...

Tractorgyan Offerings

Popular Second hand Tractors